गोरखपुर नौजवान भारत सभा और स्त्री मुक्ति लीग का विरोध प्रदर्शन

गोरखपुर नौजवान भारत सभा और स्त्री मुक्ति लीग का विरोध प्रदर्शन


गोरखपुर 8 दिसंबर। गोरखपुर नौजवान भारत सभा और स्त्री मुक्ति लीग की तरफ से देश भर में बढ़ रहे स्त्री विरोधी अपराधों के ख़िलाफ़ बिछिया के रामलीला मैदान में विरोध प्रदर्शन किया गया जिसमें फूहड़ -अश्लील फिल्में, गानें, विज्ञापनों को दिखाने वाले चैनलों, अखबारों और अश्लील वीडियो के बाजार का पुतला दहन करके सभा की गई और व्यापक पर्चा वितरित किया गया। सभा के दौरान स्त्री मुक्ति लीग की तरफ से प्रतिभा ने कहा कि देशभर में स्त्री विरोधी घटनाएं बढ़ती जा रही हैं। हैदराबाद में वेटरनरी डॉक्टर प्रियंका रेड्डी को बलात्कार के बाद जला दिया गया। उन्नाव में रेप पीड़िता को आरोपियों ने जला दिया जिसकी इलाज के दौरान मौत हो गई। रांची में ला छात्रा का अपहरण करके सामूहिक बलात्कार किया गया। 2 महीने की बच्ची से लेकर 80 साल की बुजुर्ग महिला कोई भी सुरक्षित नहीं है समाज में ।आखिर बढ़ते स्त्री विरोधी अपराधों की जड़ कहां है? अभी हैदराबाद की बलात्कार की घटना के चारों आरोपियों का एनकाउंटर कर दिया गया।


निश्चित तौर पर बलात्कारियों को कठोर से कठोर सजा देनी चाहिए लेकिन इस तरह के एनकाउंटर में एक खतरनाक फासीवादी ट्रेंड छिपा है जो इस तरह तुरंत न्याय के बहाने वास्तविक वजह की तरफ पीठ करके भीड़ के तत्कालिक असंतोष को पुष्ट करता है ।कोई भी बच्चा जन्म लेने के साथ स्त्री विरोधी सोच लेकर नहीं पैदा होता। टीवी ,चैनल ,इंटरनेट, अखबार आदि के जरिए सुबह से शाम तक जो घटिया स्त्री विरोधी अश्लीलता -फूहड़ता, स्त्रियों को माल बनाने वाले गाने, फिल्में परोसी जाती हैं । वह बच्चों- नौजवानों में विकृत मानसिकता पैदा करती हैं । इसलिए ऐसे चैनलों ,अखबारों ,साइटों का पूर्ण बहिष्कार करना होगा और समाज में बेहतर गाने, फिल्में, प्रेमचंद ,निराला, मुक्तिबोध, भगत सिंह के साहित्य उनके विचार नौजवानों और नागरिकों तक ले जाना होगा ।विरोध प्रदर्शन में माया ,मनोरमा ,अंजलि ,विकास, राजकुमार ,राजू ,दीपक, मुकेश, अयान ,रोहन ,प्रियांशु ,रागिनी, सुहाना ,परी ,अनुष्का, साहिल, बेलाल,लकी आदि शामिल हुए।


Popular posts