लिटरेरी सोसायटी के तत्वावधान में सर सैयद अहमद खान की जयंती मनाई गई 

गोरखपुर लिटरेरी सोसायटी के तत्वावधान में सर सैयद अहमद खान की जयंती के अवसर पर एक सेमिनार एवं सम्मान समारोह का आयोजन गोरखपुर लिटरेरी सोसायटी के कार्यालय (अबू बकर नगर जलपा कॉलोनी इलाही बाग गोरखपुर) में आयोजित किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता युवा समाजसेवी एवं शायर इंजीनियर मोहम्मद मिन्नतुल्लाह ने किया।
कार्यक्रम का संचालन कवित्री सौम्या यादव व भावना द्विवेदी ने संयुक्त रूप से किया।
इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में गोरखपुर शहर के पूर्व मेयर डॉक्टर सत्या पांडे ने कहा कि सर सैयद अहमद खान शिक्षा जगत का एक क्रांतिकारी नाम है जिन्होंने अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी की स्थापना करके शिक्षा के क्षेत्र में व्यापक परिवर्तन किया है उनका योगदान  उत्क्रमणीय है जिससे समाज को नई दिशा मिलती है और मिलती रहेगी।
कार्यक्रम में अति विशिष्ट अतिथि के रूप में सेठ एमआर जयपुरिया कॉलेज के निर्देशक शोएब अहमद ने कहा कि सर सैयद की जिंदगी का मकसद दूसरों को फायदा पहुंचाना था और वह जीवन भर उसी सिद्धांत पर कार्य करते रहे उन्होंने जिस का प्रयत्न किया था उसको पूरा किया।
सर सैयद अहमद खान की जीवन दर्शन की खासियत  पर रोशनी बिखेरते हुए सोसाइटी के सदर मोहम्मद मिन्नतुल्लाह ने कहा सर सैयद अहमद खान अपनी पूरी जिंदगी शिक्षा के क्षेत्र में अर्पित कर दिया ताकि उनकी कौम पढ़ लिख कर तरक्की करें और उन्होंने अनेकों महान कार्य किए जिसकी वजह से आज भी वो लोगों में जिंदा है।
विशिष्ट अतिथि के रूप में युवा समाजसेवी एडवोकेट शमशाद आलम ने संबोधित करते हुए कहा कि सर सैयद अहमद खां इल्म की दौलत हासिल करने के लिए अनेकों प्रयास किए और अपना सपना संपूर्ण जीवन शिक्षा के क्षेत्र में अर्पित कर विश्व में एक अलग पहचान बनाई।
इस अवसर पर गुरुद्वारा जटाशंकर के अध्यक्ष सरदार जसपाल सिंह, युवा सक्रिय समाजसेवी अरशद अहमद, एडवोकेट अनीस अहमद, मोहम्मद सिराज सानू, अरशद जमाल सामानी, प्रवीण श्रीवास्तव, आशीष रुंगटा, डॉक्टर राशिद हुसैन, सौम्या यादव, सुनिशा श्रीवास्तव, अशफाक हुसैन मेकरानी, दिलजीत कौर, डॉक्टर के.शर्मा आदि को समाज में सामाजिक कार्यों में अपनी सहभागिता के लिए सम्मानित किया गया। इस अवसर पर हम्मादुल्ला, तारीख अतहर, मोहम्मद जिकरुल्लाह, नुसरत अतीक, राज शेख आदि उपस्थित रहे।


Popular posts